Breaking news
  • नर्सरी से निकली पौध गुणवत्ता के विपरित होगी तो सजा जुर्माने का प्राविधान : उनियाल
  • सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को रोकने के लिए जन-अभियान चलाएं
  • भारत के सुरक्षा सलाहकार ने किया विशेष बैठक का आयोजन
  • पहाड़ों की रानी मसूरी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र
  • दिसम्बर के दूसरे सप्ताह में होंगी संत महात्माओं के साथ बैठक : सीएम
  • वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने लिखा अधीक्षण अभियंता यूपीसीएल को पत्र
  • बच्चो ने बाँधा एसएसपी को दोस्ती बैन्ड
  • सदैव प्रासंगिक बनी रहेंगी गुरूनानक देव की शिक्षाएं : मुख्यमंत्री
Todays Date
13 November 2019

हेलमेट का प्रयोग न करने वालों के विरूद्ध होगी कार्यवाही : मण्डलायुक्त

फोटोः यूपी 3
कैप्शन : मण्डलीय सडक सुरक्षा समिति की बैठक लेते मण्डलायुक्त संजय कुमार।
हेलमेट का प्रयोग न करने वालों के विरूद्ध होगी कार्यवाही : मण्डलायुक्त
संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस
सहारनपुर। मण्डलायुक्त संजय कुमार की अध्यक्षता में सर्किट हाउस सभागार में मण्डलीय सडक सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गयी। मण्डलायुक्त ने कहा कि सोलेशियम स्कीम के अन्तर्गत जब वाहन किसी व्यक्ति को कुचलकर भाग जाता है और वाहन की पंजीयन संख्या याद नही होती है के मामले के अन्तर्गत मृत्यु की दशा में 25 हजार और गहरी चोट की दशा में 12 हजार 500 रूपये सहायतार्थ दिये जाने का प्राविधान है। जिला मजिस्ट्रेट के यंहा पर निर्धारित प्रारूप में प्रत्यावेदन दिये जाने पर जिसकी जांच एसडीएम के स्तर के अधिकारी से करायी जाती है। जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर बीमा कम्पनी द्वारा सहायता राशि दिया जाता है। उन्होने कहा कि सार्वजनिक यात्री वाहनों से हुई दुर्घटना में उत्तर प्रदेश मोटर यान के अन्तर्गत निहित दुर्घटना राशि यात्री की मृत्यु की दशा में रूपया 40 हजार, गम्भीर घायल स्थिति में 30 हजार अन्य व्यक्ति की मृत्यु की दशा में 10 हजार, गम्भीर घायल की स्थिति में 5 हजार जिला मजिस्ट्रेट की संस्तुति पर परिवहन आयुक्त द्वारा राहत राशि दी जाती है। जनपद सहारनपुर में चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में बताया गया कि चिकित्सा विभाग के पास पर्याप्त एम्बुलेंस, पैरा मेडिकल स्टाफ व दवाईयां है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों की मदद के संबंध में डायल 100 की पं्रशसा की गयी है तथा गुड समेटेरियन को बढावा दिये जाने की बात कही गयी है। गोल्डन आॅवर में चिकित्सा की समुचित व्यवस्था की गयी है। जनपद मुजफ्फरनगर में टोल प्लाजा पर एन0एच0ए0आई0 द्वारा अवगत कराया गया कि 01 एम्बुलेंस मेरठ टोल प्लाजा पर खडी रहती है। चिकित्सा विभाग के पास 108 नम्बर की 24 एम्बुलेंस उपलब्ध है जो दुर्घटना स्थल पर 20 से 30 मिनट के अन्दर पंहुच जाती है। जनपद शामली में भी समुचित व्यवस्था की बात कही गयी। मण्डलायुक्त ने कहा कि परिवहन विभाग द्वारा सडक सुरक्षा के संबंध में हेलमेट व सीट बेल्ट का प्रयोग न करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। मण्डलायुक्त को अवगत कराया गया कि विद्यार्थियों की सुरक्षा एवं उनके परिवहन से संबंधित मुददों पर जनपद सहारनपुर, मुजफ्फरनगर एवं शामली में जिला विद्यालय यान परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक जिला मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में करा ली गयी है तथा विद्यालय परिवहन यान सुरक्षा समिति की बैठक भी अधिकतर विद्यालय के प्राधिकारी की अध्यक्षता में करा ली गयी है। मण्डलीय सडक सुरक्षा समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया कि मण्डलीय सडक सुरक्षा समिति द्वारा रिपोर्ट राज्य सडक सुरक्षा परिषद को प्रेषित किया जाये, कि पुलिस तथा परिवहन विभाग द्वारा प्राप्त प्रशमन शुल्क 25 प्रतिशत भाग जनपदीय सडक सुरक्षा को व्यय हेतु जिलाधिकारी के विवेक पर रखा जाये। जिससे सडक सुरक्षा के संबंध में प्रचार-प्रसार किया जा सके तथा ब्लैक स्पाॅट में सुधारात्मक कार्यवाही हो सके। अनुपालन में परिवहन विभाग द्वारा सडक सुरक्षा के कार्यक्रम व दुर्घटना में कमी लाने के लिये आवश्यक धनराशि उपलब्ध कराने हेतु सडक सुरक्षा निधि की स्थापना की गयी और अल्पकालिक/दीर्घकालिक सुधार हेतु गठित कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर ब्लैक स्पाॅट के सुधार हेतु बजट के आवंटन की कार्यवाही की जा रही है। बैठक मे डीआईजी उपेन्द्र कुमार अग्रवाल, जिलाधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय, एसएसपी दिनेश कुमार पी0, एसपी टैªफिक अपर्णा, नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह तथा संबंधित विभाग के सभी मण्डलीय अधिकारी मौजूद रहे।

No Comments

Leave a Reply

*

*

error: Content is protected !!