Breaking news
  • पीएचएमएस संवर्ग के पीजी डॉक्टरों को पूर्ण वेतन दे सरकार :  नैथानी
  • जल भराव वाली जगह में किया जाय सुधारीकरण कार्य :  हरबंश कपूर
  • शहीद पुलिस कर्मचारियों को अर्पित की श्रद्धांजलि
  • संकल्प के साथ करना चाहिए कार्य
  • उत्तरांचल पंजाबी महासभा ने किया चीन में बने सामान का बहिष्कार
  • मेयर ने किया आपदा कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण
  • कोरोना वायरस के प्रसार की श्रृंखला को तोड़ने के लिये मानवीय गतिविधियों को रोकना अति आवश्यक
  • जरूरतमंद निवासियो को वितरित किये सैनिटाइजर
Todays Date
5 July 2020

पहाड़ों की रानी मसूरी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र

फोटोः डीडी 2
कैप्शन : आरजीवी डायनेमिक फसाड लाईट का लोकार्पण करते मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत।
देहरादून से मसूरी के लिये शीघ्र होगा रोप वे का निर्माण
पहाड़ों की रानी मसूरी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र
संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस
देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मसूरी में मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के सौजन्य से किताबघर एवं शहीद स्थल के सौन्दर्यीकरण हेतु 70 लाख की लागत से आरजीवी डायनेमिक फसाड लाईट का लोकार्पण तथा 108 फिट ऊंचे राष्ट्रीय ध्वज स्थापित करने का शिलान्यास किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मसूरी के सौंदर्यीकरण तथा पर्यटकों की सुविधा के लिये अनेक घोषणा भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मसूरी स्थित लोनिवि गेस्ट हाउस को आवास विभाग को उपलब्ध कराया जायेगा, जहां पर मल्टी स्टोरी पार्किंग बनायी जायेगी, इसके साथ ही जेपी बैंड पर भी पार्किंग की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि मसूरी के लिये पार्किंग की नीति भी तैयार की जायेगी तथा भवन स्वामियों के हित में वन टाइम सेटेलमेंट योजना लागू की जायेगी। पर्यटकों की सुविधा के लिये बैट्री चलित निःशुल्क वाहनों की व्यवस्था की जायेगी। शीघ्र ही मसूरी के लिये रोपवे का भी कार्य आरम्भ कर दिया जायेगा। माल रोड तथा मेथडिस्ट चर्च पर भी पसाड लाइट की व्यवस्था की जायेगी। यात्रा सीजन में किताबघर चौक तथा आईटीबीपी बैंड पर पर्यटकों के स्वागत के लिये शाम के समय लोक संगीत की धुनों के प्रसारण की व्यवस्था भी की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहाड़ों की रानी मसूरी पर्यटकों के आकर्षण का भी केन्द्र है। पर्यटकों को सभी आवश्यक सुविधायें उपलब्ध कराना हमारा प्रयास होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पर्यटन हमारी आर्थिकी का महत्वपूर्ण साधन है। राज्य में पहले से स्थापित पर्यटन स्थलों पर अब विस्तार की गुंजाइस कम है, इसके लिये टिहरी झील के साथ ही अन्य पर्यटन स्थलों को विकसित किया जा रहा है। राज्य में अच्छे होटलों के साथ ही आवागमन के साधनों को बेहतर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पर्यटकों के प्रति हमारा व्यवहार देवभूमि के अनुरूप होना चाहिए, यह हमारी पहचान है। इससे अधिक से अधिक पर्यटक राज्य में आयेंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने किताब घर चौक पर महात्मा गांधी तथा शहीद स्थल पर उत्तराखण्ड राज्य आंदोलनकारियों की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर विधायक श्री गणेश जोशी, श्री मुन्ना सिंह चौहान, नगर पालिका अध्यक्ष श्री अनुज गुप्ता, सचिव श्री नितेश झा, आयुक्त गढ़वाल श्री रविनाथ रमन, उपाध्यक्ष एमडीडीए डॉ. आशीष श्रीवास्तव, सचिव एमडीडीए श्री जी.सी. गुणवन्त आदि उपस्थित थे।

No Comments

Leave a Reply

*

*