Breaking news
  • 4 माह में एसएसपी ने किया नशे की तस्करी करने वालो के नेटवर्क को ध्वस्त
  • युवतियों ने किया दून पुलिस का आभार प्रकट
  • खुर्दबुर्द की जा रही नगर निगम की सरकारी भूमि: लालचन्द शर्मा
  • महिला आरक्षी ने रक्तदान कर बचाई गर्भवती महिला की जान
  • महिलाओं के लिए किया जागरूकता कार्यक्रम आयोजित
  • नशे की लत से युवा पीढ़ी हो रही बर्बाद : धस्माना
  • कांग्रेस ने किया भाजपा सरकार का पुतला दहन
  • 19 दिसंबर से होगा तीन दिवसीय एफीनिटी महोत्सव का आयोजन : अरुण 
Todays Date
11 December 2019

संविधान का पालन करना ही डाॅ अम्बेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि : प्रीतम सिंह

संविधान का पालन करना ही डाॅ अम्बेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि : प्रीतम सिंह

संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून 26 नवम्बर। बाबा साहब डाॅ. भीमराव अम्बेडकर ने देश को जो संविधान दिया है उस संविधान का सम्मान करना व उस संविधान के अनुरूप एक सच्चे नागरिक की तरह आचरण करना ही डाॅ भीमराव अम्बेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि है। यह बात आज संविधान दिवस के अवसर पर बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण व कांग्रेस मुख्यालय में डाॅ अम्बेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कही। उन्होंने कहा कि डाॅ भीमराव अम्बेडकर ने अपने जीवनकाल में इस बात को साबित किया कि मेहनत, संघर्ष और योग्यता का कोई विकल्प नहीं होता है। प्रीतम सिंह ने कहा कि संविधान निर्माण में महत्वपूर्ण प्रारूप समिति के अध्यक्ष पद के लिए बाबा साहब को चुना गया था। उन्होंने प्रारूप समिति के अध्यक्ष के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करते हुए संविधान सभा के सदस्यों द्वारा उठाई गई आपत्तियों, आशंकाओं एवं जिज्ञासाओं का निराकरण बड़ी कुशलता से किया। उनके व्यक्तित्व और चिन्तन का संविधान के स्वरूप पर गहरा प्रभाव पड़ा। डाॅ अम्बेडकर के प्रभा के कारण ही संविधान में समाज के सबसे कमजोर दलित वर्गों, अनुसूचित जातियों एवं जनजातियों के उत्थान के लिए विभिन्न संवैधानिक व्यवस्थाओं और प्रावधानों का निरूपण किया परिणाम स्वरूप भारतीय संविधान सामाजिक न्याय का एक महान दस्तावेज बन गया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि आज देश में सबसे बडी आवश्यकता बाबा साहब के बनाये हुए संविधान की रक्षा करना है क्योंकि कुछ ताकतें आज डाॅ अम्बेडकर द्वारा निर्मित संविधान को नष्ट भ्रष्ट करने का प्रयास कर रहे हैं, उन्हीं ताकतों ने आज महाराष्ट्र में संविधान, कानून को ठेगा दिखाते हुए असंवैधानिक रूप से देवेन्द्र फणनवीस के नेतृत्व में सरकार का गठन किया। उन्होंने कहा कि जो लोग आज देश की संवैधानिक संस्थाओं को पंगु बनाने में लगे हैं उनसे सावधन रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार का कदम गैर जरूरी और अलोकतांत्रिक है और उसने संविधान और लोकतंत्र की पवित्र भावनाओं की हत्या करने का काम किया है।  कांग्रेस पार्टी का विधानसभा, भारत के संविधान व देष की संवैधानिक संस्थाओं पर पूर्ण विश्वास है। भारतीय जनता पार्टी ने देष की राजनीति को जिस तरह से कलंकित और कलुषित करने का काम किया, देष की प्रबुद्ध जनता उनके द्वारा किये गये इन पापों का आने वाले समय में निष्चित रूप से संज्ञान लेगी, क्येांकि लोकषाही एवं प्रजातांत्रिक पद्धति में जनता की अदालत सर्वोच्च अदालत है। उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा उत्तराखण्ड, अरूणाचल प्रदेष, उडीसा, विहार तथा दिल्ली प्रदेष की सरकार को इसी प्रकार अलोकतांत्रिक रूप से षडत्रयंत्र कर गिराने का भी कुत्सित प्रयास किया गया। परन्तु उत्तराखण्ड में सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय से लोकतंत्र, भारतीय संविधान व संवैधानिक संस्थाओं की जीत हुई। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने न्यायालयों के पूर्व के निर्णयों से भी कोई सबक नहीं लिया तथा अपनी राजनैतिक महत्ताकांक्षा के लिए लोकतांत्रिक तरीके चुनी हुई सरकारों को गिराकर लोकतंत्र की हत्या करने तथा संविधान के विरूद्ध राज्य सरकारों का गठन करने का घृणित कार्य किया जा रहा है। उनके कृत्यों से संविधान, लोकतांत्रिक व्यवस्था तथा देष की गरिमा को जो चोट पहुंची है उसका जवाब जनता उन्हें जरूर देगी। इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, अनुशासन समिति के अध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह, पूर्व मंत्री अजय सिंह, कार्यक्रम समन्वयक राजेन्द्र शाह, याकूब सिद्धिकी, प्रभुलाल बहुगुणा, अशोक वर्मा, प्रवक्ता डाॅ. आर.पी. रतूड़ी, राजेश शर्मा, प्रतिमा सिंह, जिलाध्यक्ष संजय किशोर, प्रदेश सचिव राजेश पाण्डे, दीप बोहरा, भरत शर्मा, राजेश चमोली, नवीन पयाल, अल्पसंख्यक अध्यक्ष ताहिर अली, ब्लाक प्रमुख महेन्द्र राणा, लेखराज, महानगर महिला अध्यक्ष कमलेश रमन, गरिमा दसौनी, संजय काला, संगीता रानी, पार्षद सुमित्रा ध्यानी, देविका रानी, अर्जुन सोनकर, अनूप कपूर, अशोक कोहली, आनन्द त्यागी, प्रवीण त्यागी, डाॅ विजेन्द्र पाल, जगदीश चैहान, उदयप्रताप मल्ल, सुनील कुमार लाम्बा, देवेन्द्र सिंह, अनूप पासी, आशीष रतूड़ी, प्रमोद कुमार गुप्ता, एहताद खान, सविता ध्यानी, फैजल, सावित्री थापा, अनुराधा तिवारी आदि कांग्रेसजन उपस्थित थे।

No Comments

Leave a Reply

*

*

error: Content is protected !!