Breaking news
  • पीएचएमएस संवर्ग के पीजी डॉक्टरों को पूर्ण वेतन दे सरकार :  नैथानी
  • जल भराव वाली जगह में किया जाय सुधारीकरण कार्य :  हरबंश कपूर
  • शहीद पुलिस कर्मचारियों को अर्पित की श्रद्धांजलि
  • संकल्प के साथ करना चाहिए कार्य
  • उत्तरांचल पंजाबी महासभा ने किया चीन में बने सामान का बहिष्कार
  • मेयर ने किया आपदा कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण
  • कोरोना वायरस के प्रसार की श्रृंखला को तोड़ने के लिये मानवीय गतिविधियों को रोकना अति आवश्यक
  • जरूरतमंद निवासियो को वितरित किये सैनिटाइजर
Todays Date
5 July 2020

रोडवेज कार्यशाला की जमीन बिना प्रतिपूर्ति स्मार्ट सिटी को देने का विरोध

फोटोः डीडी 10

कैप्शन : हरिद्वार रोड़ स्थित रोडवेज कार्यशाला।

रोडवेज कार्यशाला की जमीन बिना प्रतिपूर्ति स्मार्ट सिटी को देने का विरोध

रोडवेज इंप्लॉयज यूनियन ने रखा उपवास

संदीप गोयल /एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून। रोडवेज कार्यशाला की जमीन बिना प्रतिपूर्ति स्मार्ट सिटी को देने के विरोध जताकर उत्तराखंड रोडवेज इंप्लाइज यूनियन से जुड़े कर्मियों ने गांधी पार्क में एक दिन का उपवास रखकर धरना दिया। राज्य निगम कर्मचारी महासंघ ने भी आंदोलन को समर्थन दिया। रोडवेज की हरिद्वार रोड स्थित कार्यशाला की जमीन सरकार के आदेश पर रोडवेज ने शहरी विकास विभाग को ट्रांसफर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसे लेकर कर्मचारी संगठन आंदोलन कर रहे हैं। बीते दिनों एक घंटे बसों का संचालन भी बंद रखा गया और कार्यशाला में प्रदर्शन भी किए गए। कांग्रेस ने भी रोडवेज कर्मियों को समर्थन दिया है। इसी दौरान इंप्लाइज यूनियन ने तीन दिसंबर को गांधी पार्क में उपवास रखकर धरना देने का एलान किया था। यूनियन के सदस्यों ने चेतावनी भी दी कि जमीन को लेकर जब तक कोई समुचित निर्णय लिया नहीं जाता, तब तक रोडवेजकर्मी कार्यशाला की जमीन किसी को ट्रांसफर नहीं होने देंगे। कर्मचारी कार्यशाला की जमीन को ट्रांसफर करने से पूर्व दून आइएसबीटी का स्वामित्व रोडवेज के नाम करने, नई कार्यशाला बनाने व इसकी शिफ्टिंग का पूरा खर्च सरकार की ओर से देने की मांग कर रहे। राज्य निगम कर्मचारी महासंघ के महामंत्री सूर्यप्रकाश राणाकोटी ने भी रोडवेजकर्मियों को समर्थन देकर धरना दिया। इस दौरान यूनियन के महामंत्री रविनंदन कुमार समेत रविंद्र भगत, जगदीश बहुगुणा, हरि सिंह, बालेश कुमार, सुनील चौधरी समेत दर्जनों कर्मचारी मौजूद रहे।

No Comments

Leave a Reply

*

*