Breaking news
  • मानवभारती स्कूल में दो दिवसीय वसंतोत्सव का आयोजन
  • उत्तराखण्ड में योग की विश्व राजधानी बनने की क्षमता : सतपाल महाराज
  • डीएम ने दिये क्लीनिकल एस्टबलिशमेंट एक्ट के तहत सख्त कार्यवाही करने के निर्देश
  • लिंगानुपात सुधारक कार्यों की गहन पड़ताल की जाय : डीएम
  • सराहनीय कार्य कर रहा उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय : राज्यपाल
  • परीक्षा में हुई धांधली की उच्च स्तरीय न्यायिक जांच की मांग
  • मुख्यमंत्री ने किया इण्डिया ड्रोन फेस्टिवल का शुभारम्भ
  • टपकेश्वर महादेव मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व की तैयारियां शुरू
Todays Date
19 February 2020

रिकवरी के आदेश को समाप्त करने के सम्बन्ध में शासनादेश जारी करने पर बनी सहमति

रिकवरी के आदेश को समाप्त करने के सम्बन्ध में शासनादेश जारी करने पर बनी सहमति

संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून। प्रदेश के सिंचाई, बाढ़ नियंत्रण, लघु-सिंचाई, वर्षा जल संग्रहण, जलागम प्रबन्धन, भारत-नेपाल उत्तराखण्ड नदी परियोजनाएं, पर्यटन, तीर्थाटन, धार्मिक मेले एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने विधान सभा स्थित कार्यालय कक्ष में डिप्लोमा इंजीनियर्स समस्या समाधान समिति के साथ बैठक की। बैठक में कर्मचारियों के हितों में महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर सहमति बनी।बैठक में विभिन्न विभागों में कार्यरत अभियंताओं को कार अनुरक्षण भत्ता की अनुमन्यता विषय पर सहमति प्रकट की गई। इसके अलावा लघु सिंचाई विभाग में आॅडिट द्वारा मोटर साईकिल एवं स्कूटर की भत्तों का पुनर्निरीक्षण करने के बाद होने वाले रिकवरी के आदेश को समाप्त करने के सम्बन्ध मंे शासनादेश जारी करने पर भी सहमति बनी।  अन्य महत्वपूर्ण बिन्दु में तीन माह के भीतर, समस्त तकनीकी विभागों के अभियंताओं की एक ही सेवा नियमावली तैयार किए जाने के संबंध में शासनादेश जारी करने पर सहमति बनी।प्रोन्नत वेतनमान में विसंगति को समाप्त करने के लिए वित्त विभाग को परीक्षण करने का निर्देश दिया गया।वेतन एवं पेंशन में, तदर्थ सेवा की गणना का लाभ दिये जाने के संबंध में वित्त विभाग द्वारा शासनादेश जारी करने पर भी सहमति बनी।सहमति के महत्वपूर्ण बिन्दु में, लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण निर्माण विभाग, पेयजल निगम एवं सिंचाई विभाग में प्रभारी सहायक अभियंता बनाने हेतु 15 दिनों में आदेश जारी किया जाएगा तथा उक्त विभाग के ढांचे का पुनर्गठन भी किया जाएगा।उत्तराखण्ड अधिकारी, कर्मचारी समन्वय मंच के मांग पत्र पर अतिशीघ्र माननीय मुख्यमंत्री से वार्ता की जायेगी तथा पेयजल निगम, जल संस्थान एवं अन्य तकनीकी विभागों के एकीकरण की कार्यवाही शीघ्र की जायेगी।इस अवसर पर अपर सचिव वित्त अरूणेन्द्र चैहान, प्रमुख अभियन्ता सिंचाई मुकेश मोहन, महासंघ के प्रांतीय अध्यक्ष हरीश नौटियाल, अजय बेलवाल, पूर्व अध्यक्ष नवीन कांडपाल, संरक्षक यू.एस.मैहर, चेयरमैन संघर्ष समिति एस.के.चतुर्वेदी, सचिव प्रोन्नत अरविन्द सिंह सजवाण, अध्यक्ष लघु सिंचाई अलोक श्रीवास्तव, महामंत्री लोक निर्माण विभाग एस.एस. चैहान, अध्यक्ष ग्रामीण अभियंत्रण विभाग एस.पी.काला, संरक्षक पेयजल निगम योगेन्द्र सिंह, महासचिव सिंचाई विभाग अनिल पंवार, प्रान्तीय सचिव परिवार कल्याण जगमोहन सिंह रावत।

No Comments

Leave a Reply

*

*

error: Content is protected !!