Breaking news
  • मौत पर भी राजनीति कर रही कांग्रेस : भसीन
  • भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दी स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएँ
  • भारत सरकार से प्राप्त होगी 10 करोड़ रूपये सब्सिडी
  • स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर सादगी से होगा ध्वजारोहण कार्यक्रम
  • उत्तरांचल पंजाबी महासभा ने किया शहीदों को याद
  • कैबिनेट निर्णय : देहरादून में होगा उत्‍तराखंड विधानसभा सत्र
  • सनप्रो़ मोबाइल एप के लॉन्च की घोषणा
  • गजेंद्र बिष्ट को किया गढ़वाल मंडल महासचिव पद पर तैनात
Todays Date
15 August 2020

पहाड़ी राज्यों के विकास पर फोकस : डा. जीतेंद्र

पहाड़ी राज्यों के विकास पर फोकस : डा. जीतेंद्र

केंद्रीय मंत्री ने किया डोईवाला विधानसभा क्षेत्र की वर्चुवल रैली में प्रतिभाग

संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून। डोईवाला विधानसभा क्षेत्र की वर्चुअल रैली में प्रतिभाग करते हुए केंद्रीय मंत्री डा. जीतेंद्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की के नेतृत्व में देश के सभी क्षेत्रों के विकास पर ध्यान दिया गया। पर्वतीय राज्यों पर पहली बार इतना फोकस किया गया। डा. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कोरोना संक्रमण को काफी नियंत्रित किया गया। उत्तराखण्ड में भी मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की सरकार ने अच्छा काम किया। यहां सरकार, प्रशासन व सिविल सोसायटी में समन्वय से बेहतरीन काम किया गया। उत्तराखण्ड में प्रतिदिन 1500 टेस्ट प्रतिदिन किए जा रहे हैं। राज्य में तैयारियों में कोई कमी नहीं है। वर्ष 2017 में जहां प्रदेश में मात्र 3 जनपदों में आईसीयू स्थापित थे वहीं अब राज्य के सभी  जनपदों में आईसीयू की स्थापना पूर्ण हो चुकी है। गरीबों और किसानों को अनेक प्रकार से राहत पहुंचाई गई। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अन्य राज्यों से लगभग 2 लाख 34 हजार प्रवासियों को वापस लाया गया। उत्तराखण्ड लौटे प्रवासियों के लिए राशन की व्यवस्था की गई है। ऐसे लोग जिनके पास किसी भी राज्य का राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना का कार्ड है, उनको वन नेशन वन कार्ड योजना के अंतर्गत सफेद व गुलाबी कार्ड की भांति लाभ दिया जाएगा। ऐसे लोग जिनके पास कोई कार्ड नहीं है, उन्हें भी ‘आत्मनिर्भर भारत योजना’ के अंतर्गत प्रति यूनिट 5 किग्रा चावल और 1 किग्रा दाल का निशुल्क लाभ दिया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत (अन्त्योदय अन्न योजना और प्राथमिक परिवार) 13.49 लाख परिवारों को 3 माह हेतु प्रति व्यक्ति प्रति माह निशुल्क 5 किलोग्राम चावल का वितरण कराया जा रहा है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत (अन्त्योदय अन्न योजना और प्राथमिक परिवार) 13.49 लाख परिवारों को 3 माह हेतु प्रति राशन कार्ड निशुल्क 01 किलोग्राम दाल का वितरण कराया जा रहा है। समाज कल्याण विभाग के अंतर्गत अप्रेल, मई व जून तीन माह की पेंशन का अग्रिम भुगतान कर दिया गया है। राज्य में  मनरेगा में कुल 3 लाख 64 हजार श्रमिक नियोजित हैं। मनरेगा में 23 हजार से अधिक नए पंजीकरण भी किए गए हैं। इनमें से 17 हजार से अधिक लोगों को काम उपलब्ध करवाया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भाजपा के देवतुल्य कार्यकर्ताओं की समाज के प्रति दायित्व को जिम्मेदारीपूर्ण तरीके से निभाने की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोविड-19 में लाकडाऊन के दौरान जरूरतमंदों की हर तरह से मदद करने के लिए भाजपा के कार्यकर्ता हमेशा आगे रहे। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार प्रदेश में विकास के काम कर रही है। उसने अपने विजन डाक्यूमेंट में जितने भी वायदे चुनाव के समय किए थे, उन्हें पूरा किया जा रहा है। सवा तीन साल के कार्याकाल में 85 प्रतिशत घोषणाएं पूरी कर दी हैं। राज्य की जनभावनाओं का सम्मान करते हुए गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने की सबसे बड़े घोषणा की। इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी है। ये सही मायनों में उत्तराखण्ड की जनभावनाओं का सम्मान है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश कठिन परिस्थितियों का स्वाभिमान के साथ सामना कर रहा है। पार्टी कार्यकर्ताओं को भरोसा दिया किया कि उन्होंने उन्हें जो जिम्मेदारी दी है उसे पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ निभाते हुए सभी वायदों को पूरा करेंगे। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष शमसेर सिंह पुण्डीर ने सभी कार्यकर्ताओं को निष्ठापूर्वक कार्य करने और समाज के प्रति अपने दायित्व को भी निभाने की शपथ दिलाई। इस मौके पर दायित्वधारी  बृजभूषण गैरोला, करण बोहरा, नगीना रानी, अशोक राज, राजकुमार, विनय कंडवाल सहित पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

No Comments

Leave a Reply

*

*