Breaking news
  • मौत पर भी राजनीति कर रही कांग्रेस : भसीन
  • भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दी स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएँ
  • भारत सरकार से प्राप्त होगी 10 करोड़ रूपये सब्सिडी
  • स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर सादगी से होगा ध्वजारोहण कार्यक्रम
  • उत्तरांचल पंजाबी महासभा ने किया शहीदों को याद
  • कैबिनेट निर्णय : देहरादून में होगा उत्‍तराखंड विधानसभा सत्र
  • सनप्रो़ मोबाइल एप के लॉन्च की घोषणा
  • गजेंद्र बिष्ट को किया गढ़वाल मंडल महासचिव पद पर तैनात
Todays Date
15 August 2020

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की मूर्ति हटाये जाने का विरोध

फोटोः डीडी 6

कैप्शन : धर्मपुर क्षेत्र के भाजपा विधायक के खिलाफ प्रदर्शन करते कांग्रेसी कार्यकर्ता।

कांग्रेस ने किया भाजपा विधायक का पुतला दहन

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की मूर्ति हटाये जाने का विरोध

संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून 28 जुलाई। शराब की दुकान को बचाने के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जस्सा सिंह की मूर्ति हटाये जाने के विरोध में देहरादून महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचन्द शर्मा के नेतृत्व में महानगर कांग्रेसजनों ने धर्मपुर क्षेत्र के भाजपा विधायक का पुतला दहन किया। देहरादून महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार देवभूमि उत्तराखण्ड को षराब प्रदेष बनाना चाहती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की आबकारी नीति पूर्ण रूप से शराब माफिया को संरक्षण देने, शराब की तस्करी को बढ़ावा देने तथा उत्तराखण्ड के गांवों में हर घर तक शराब पहुंचाने वाली है। महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने कहा कि एक ओर भाजपा सरकार आम जरूरत की चीजों पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस सिलेण्डर, परिवाहन निगम की बसों के किराये की दरों में भारी वृद्धि कर आम जनता का षोशण कर रही है वहीं शराब को बढ़ावा देकर देवभूमि उत्तराखण्ड को शराब प्रदेश बनाकर लोगों के स्वास्थ्य से भी खिलवाड़ करना चाहती है। उन्होंने कहा कि देहरादून महानगर में कोरोना महामारी के चलते शनिवार एवं रविवार को लागू लाॅक डाउन में पूर्ण बंदी के बावजूद शराब की दुकानों को आवश्यक सेवा में षामिल किया जा रहा है वहीं धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जस्सासिंह की मूर्ति को शराब की दुकान की भेंट चढ़ाने का प्रयास हो रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के स्थानीय विधायक भी अपने आपको असमर्थ महसूस कर रहे हैं तथा षराब की दुकान हटाने की बजाय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की मूर्ति को हटाना आसान बता रहे हैं इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि उत्तराखण्ड की त्रिवेन्द्र रावत सरकार शराब माफिया के आगे कहां तक नतमस्तक हो रखी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा सत्तारूढ होने के बाद शराब के कारोबार को कम करने का आश्वासन देने के बावजूद राज्य सरकार शराब को मोबाईल वैनों के माध्यम से घर-घर पहुंचाने का प्रयास कर उत्तराखण्ड को कलंकित कर रही है तथा अब शराब कारोबारियों को फलित करने के लिए देश की महान विभूतियों का अपमान करने से भी नहीं कतरा रही है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार भाजपा षासित प्रदेष कर्नाटक में भाजपा विधायक द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एच.एस.डोरेस्वामी की मूर्ति के साथ भी किया गया। उन्होंने कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई है उसकी सरकारें देश की आजादी के नायकों का लगातार अपमान करती आ रही है जिसे कांग्रेस पार्टी सहन नहीं करेगी तथा इसके खिलाफ सडकों पर उतर कर आन्दोलन करेगी। पुतला दहन में प्रदेश महामंत्री ताहिर अली, प्रदेश सचिव कमरखान, सोमप्रकाश बाल्मीकि, कमलेश रमन, डाॅ0 प्रतिमा सिंह, विकास नेगी, पार्षद हरि प्रसाद भट्ट, रमेश कुमार मंगू, इलियास अंसारी, छात्र नेता विकास नेगी, हुकम सिंह गडिया, नीरज नेगी, अनिल नेगी, शिव कुमार, राहुल पंवार राॅबिन, राजेश मल्ल, सुभाष धस्माना, आशीष रतूड़ी, सिद्यार्थ वर्मा, गौतम वर्मा, प्रियांशु छाबडा, अविनाश मणि हिमांशु राणावत, नरेन्द्र राणा, अनूप कपूर, अनिल कुमार, अजय बेलवाल, आशु रतूड़ी, अनिकेत नन्दन, मीनू आदि शामिल थे।

No Comments

Leave a Reply

*

*