Breaking news
  • उपच्छाया ग्रहण वास्तव में नही होता चंद्रग्रहण : डॉक्टर आचार्य सुशांत राज
  • पवित्र नदियों के घाटों पर स्नान करने की अनुमति नहीं
  • नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स जनपद हरिद्वार इकाई की बैठक आयोजित
  • सुरेश भट्ट भाजपा उत्तराखंड के प्रदेश महामंत्री नियुक्त
  • पुलिस उपमहानिरीक्षक ने की समीक्षा
  • जनपदों को शीघ्र अतिशीघ्र डिजिटाइज्ड करने के निर्देश
  • उत्तराखण्ड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की छटवीं बैठक आयोजित
  • स्मार्ट सिटी परियोजना की उच्च स्तरीय संचालन समिति बैठक सम्पन्न
Todays Date
28 November 2020

सम्पूर्ण उत्तराखण्ड में दून पुलिस ने किये सबसे अधिक चालान

सम्पूर्ण उत्तराखण्ड में दून पुलिस ने किये सबसे अधिक चालान

संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून। वर्तमान में सम्पूर्ण भारत वर्ष कोरोना संकट से जूझ रहा है, 22 मार्च2020 से सम्पूर्ण भारतवर्ष में कोरोना की रोकथाम हेतु लॉकडाउन लागू किया गया था। लॉकडाउन लागू होने के पश्चात से ही पुलिस उपमानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा इस महामारी से आम जनता के बचाव के साथ–साथ पुलिस फोर्स को भी इस महामारी से बचाने के लिए सबसे अधिक सतर्कता /सावधानी बरतने की हिदायत दी गयी थी। इसके अतिरिक्त महामारी को फैलने से रोकने के लिए आम-जनता को जागरुक करने के साथ–साथ व्यवसायिक प्रतिष्ठानों पर कोरोना महामारी के जागरूकता सम्बन्धित फ्लैक्स बोर्ड लगाये गये एंव एक-एक मीटर की दूरी बनाये रखने हेतु गोले बनाये गये साथ ही समय-समय पर जागरूकता रैली भी निकाली गयी है। पुलिस उपमहानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून की  प्राथमिकता है, कि जनपद की आम जनता कोरोना महामारी के अन्तर्गत जारी दिशा-निर्देशों का लगातार पालन करती रही। इस संदर्भ में विभिन्न माध्यमों से देहरादून पुलिस जनता को जागरूक कर रही है। इसके अतिरिक्त जागरूकता के बावजूद यदि किसी व्यक्ति के द्वारा लाक डाउन का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध अभियोग भी पंजीकृत कर कडी कार्यवाही की जा रही है। दून पुलिस द्वारा सबसे अधिक बिना मास्क पहने व्यक्तियों का चालान करने के साथ-साथ सबसे अधिक मास्कों, सैनेटाइजर, ग्लब्सों का भी वितरण किया गया। देहरादून पुलिस द्वारा जनपद के समस्त ऐसे प्रतिष्ठानों जहां जनता का आवागमन है बड़े-बड़े फ्लेक्स बोर्ड लगवाए गए हैं। जिसमें पुलिस उच्चाधिकारियों के व स्थानीय पुलिस के नंबर अंकित किए गए हैं। जिससे यदि किसी प्रतिष्ठान या सार्वजनिक स्थान पर सोशल डिस्टेंसिंग और केंद्र व राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों का उल्लंघन करता हुआ कोई व्यक्ति या संस्थान पाया जाता है, तो उसकी शिकायत भी तत्काल आम जनमानस पुलिस को कर सकता है। जिससे संबंधित के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई की जा सकती है। जारी दिशा निर्देशों का प्रचार प्रसार करने के बावजूद भी के जिन व्यक्ति के द्वारा लाक डाउन के निर्देशों  का उल्लंघन किया जा रहा है उनके विरुद्ध सख्त वैधानिक कार्रवाई चालान अभियोग पंजीकृत किए जा रहे हैं। दून पुलिस द्वारा सबसे अधिक बिना मास्क पहने व्यक्तियों का चालान करने के साथ-साथ सबसे अधिक मास्कों, सैनेटाइजर, ग्लब्सों का भी वितरण किया गया। लॉकडाउन के समय पुलिस की सहायता करने वाले करीब 800 व्यक्तियों को देहरादून पुलिस द्वारा करोना वॉरियर्स के रूप में सम्मानित भी किया गया है। वर्तमान समय पर सोशल डिस्टेंसिग व बिना मास्क के चालानो की संख्या- 1,72,418 हैं। वर्तमान समय पर महामारी विनियमावली के अन्तर्गत उल्घंन कर्ता द्वारा वसूला गया जुर्माना 2,81,36,900 रुपये हैं। देहरादून पुलिस द्वारा किये गये चालानो की सख्या व धनराशि सम्पूर्ण उत्तराखण्ड में सबसे अधिक है।

No Comments

Leave a Reply

*

*