Breaking news
  • उपच्छाया ग्रहण वास्तव में नही होता चंद्रग्रहण : डॉक्टर आचार्य सुशांत राज
  • पवित्र नदियों के घाटों पर स्नान करने की अनुमति नहीं
  • नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स जनपद हरिद्वार इकाई की बैठक आयोजित
  • सुरेश भट्ट भाजपा उत्तराखंड के प्रदेश महामंत्री नियुक्त
  • पुलिस उपमहानिरीक्षक ने की समीक्षा
  • जनपदों को शीघ्र अतिशीघ्र डिजिटाइज्ड करने के निर्देश
  • उत्तराखण्ड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की छटवीं बैठक आयोजित
  • स्मार्ट सिटी परियोजना की उच्च स्तरीय संचालन समिति बैठक सम्पन्न
Todays Date
28 November 2020

ग्रोथ सेन्टर्स में बहुत सारी चिजों को समेकित रूप से इम्पलिमेंन्ट करते हुए कार्य करें : जिलाधिकारी

ग्रोथ सेन्टर्स में बहुत सारी चिजों को समेकित रूप से इम्पलिमेंन्ट करते हुए कार्य करें : जिलाधिकारी

संदीप गोयल/एस.के.एम. न्यूज़ सर्विस

देहरादून। ग्रोथ सेन्टर्स में बहुत सारी चिजों को समेकित रूप से इम्पलिमेंन्ट करते हुए कार्य करें। यह निर्देश जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कलेक्टेªट सभागार में ग्रोथ सेन्टर अनुश्रवण एवं चयन समिति की बैठक से सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को दिए। जिलाधिकारी ने वर्तमान में संचालित विभिन्न विभागों के ग्रोथ सेन्टर्स की अद्यतन प्रगति तथा नवीन प्रस्तावों की समीक्षा करते हुए विभिन्न विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि ग्रोथ सेन्टर बहुत सारी सम्बन्धित गतिविधियों को जोड़े तथा ग्रोथ सेन्टर को बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए लीक से हटकर सोचें और कार्य करें। विभिन्न विभाग ग्रोथ सेन्टर में आपसी समन्वय को इस तरह से बढाएं कि ग्रोथ सेन्टर्स को अच्छे से ग्रो करने के लिए विभिन्न विभाग एक दूसरे के पूरक/सहायक बन सकें। उन्होंने कहा कि नए ग्रोथ सेन्टर का चयन ऐसी जगह पर करें ताकि भविष्य में यदि उसका दायरा बढाना पड़े तो उसके आसपास बहुत से निकटवर्ती गांव व आबादी को भी आसानी से लभान्वित किया जा सके। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विभाग अपनी स्ट्राॅंगनेस और विकनेस पता करते हुए ऐसे इनोवटिव प्रयासों को शामिल करें जो मार्केट की मांग आधारित हों और जिसमें लोगों को बेहतर मुनाफा भी प्राप्त हो सके। उन्होंने एकीकृत आजीविका मिशन के अन्तर्गत ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान की तर्ज पर बेहतर आकर्षक पैकेजिंग और बेहतर मार्केटिंग करवाकर स्थानीय ब्राण्डिंग विकसित करें तथा उत्पाद में इस तरह वैल्यु एडीशन करें कि समूह में जुड़े लोगों को अधिकाधिक लाभ प्राप्त हो सके। जिलाधिकारी ने आईटीडीए (सूचना प्रौद्योगिकी) विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण को इस उद्देश्य के साथ संपादित करें कि जितनों ने प्रशिक्षण प्राप्त कर लिया हो, उनमें से कितने अपना स्वरोजगार प्राप्त कर पाए तथा उस प्रशिक्षण के उपरान्त कितने किसी रोजगार में अपना कैरियर बनाने में सफल हो पाए इसका स्पष्ट डेटा तैयार करें। इसके अतिरिक्त होटल व्यवसाय से जुड़े लोगों को ‘डिजिटिलाईज’ करने का प्रशिक्षण भी प्राथमिकता आधारित प्रदान करें। जिलाधिकारी ने विभागववार ग्रोथ  सेन्टर्स द्वारा की गयी प्रगति का विवरण प्राप्त करते हुए प्रगति बढाने के लिए लगातार प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभिन्न तरह के उत्पादों में कुछ नयापन लाने और उसको लोगों की अलग-अलग मांग के अनुरूप ढालने के नजरिए से कार्य करने के भी निर्देश दिए। इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, महाप्रबन्धक उद्योग शिखर सक्सेना, मुख्य कृषि अधिकारी विजय देवराड़ी, मुख्य उद्यान अधिकारी डाॅ मीनाक्षी जोशी, जिला पर्यटन जयपाल चैहान, परियोजना निदेशक डीआरडीए विक्रम सिंह सहित मत्स्य, ग्राम्य विकास, डेयरी, रेशम, जलागम सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

No Comments

Leave a Reply

*

*