Breaking news
  • ससुराल में युवक ने की फाँसी लगाकर खुदकुशी
  • कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ ने किया पुतला दहन
  • होम आईसोलेशन का नियमानुसार पालन कराने के निर्देश
  • कोरोना सामाजिक संक्रमण रोकने के लिए सामाजिक सक्रियता ज़रूरी
  • कृषि बिल पर कांग्रेस अपने जाल में फँसी : भगत
  • एक सप्ताह तक कांग्रेस पार्टी के सभी सार्वजनिक कार्यक्रम स्थगित : धस्माना
  • कांग्रेस नेताओँ अपने भविष्य की चिंता : बंशीधर भगत
  • शनिवार को बाजार बंद रखे जाने का कोई औचित्य नहीं
Todays Date
20 September 2020

About Us

देवों की भूमि उत्तराखंड जहां मौजूद है आस्था के चारधम। देवों की नगरी उत्तराखंड में अनेक साधू संतो ने जप-तप कर ध्रती को देवभूमि बनाया। इसी देवभूमि से वर्ष 2001 में उदय हुआ एसकेएम न्यूज सर्विस का। यह समाचार एजेंसी वर्ष 2008 में पंजीकृत हुई। देवी देवताओं के आर्शीवाद, अपनों के स्नेह एवं पाठको की शुभकामनाओं के बल पर समाचार एजेंसी दिन दुगनी रात चैगनी तरक्की करने लगी। समाचार एजेंसी की टीम इसे नई आयामों तक पहुंचाने में जुटी हुई है। एसकेएम न्यूज सर्विस की आपार लोकप्रियता को देखते हुए वर्ष 2016 में एसकेएम न्यूज डॉट कॉम के नाम से एक हिंदी न्यूज पोर्टल शुरू किया। जिस तरह का स्नेह और प्यार एसकेएम न्यूज सर्विस को मिला ठीक उसी तरह एसकेएम न्यूज डॉट कॉम भी देशवासियों को पसंद आ रहा है। एसकेएमन्यूज डॉट कॉम हिंदी न्यूज पोर्टल देश में सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाले पोर्टल बना हुआ है। अपने मजबूत नेटवर्क के अलावा उत्तराखंड के कई स्वतंत्रा पत्राकार एवं जागरूक नागरिक भी एसकेएम न्यूज से सीधे जुड़े हुए हैं। लेखनी के माहिर पत्राकारों की यह टीम हर एक खबर को आप तक पहुंचाने का प्रयास कर रही हैं। प्रयास किया जा रहा है कि आप किसी भी खबर से बेखबर न रहें। खबरों का जो सिलसिला शुरू हुआ है वह कभी थमेगा नही। बल्कि इसे और तेज गति देने का प्रयास किया जायेगा। यदि आपके पास भी कोई ऐसी खबर हो जो जनहित से ताल्लुक रखती हो वह आप हम तक पहुंचा सकते हैं। निश्चित ही उस खबर को पोर्टल में स्थान दिया जायेंगा। निदेशक नेहा गोयल, मेघा गोयल।